MS Dhoni Retirement News Updates Dhoni Cricket Records Mahi Unknown Facts Latest Updates | धोनी सिक्स लगाकर वर्ल्ड कप जिताने वाले अकेले खिलाड़ी, भारत को टेस्ट में नंबर-1 बनाने वाले पहले कप्तान, जानिए ऐसे ही 20 बड़े रिकॉर्ड्स

0
42

एक मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

धोनी ने बतौर कप्तान सबसे ज्यादा 211 सिक्स लगाए हैं। उनके बाद पूर्व ऑस्ट्रेलिया कप्तान रिकी पोंटिंग का नाम है, जिन्होंने 171 बार बॉल को बाउंड्री के पार पहुंचाया है। -फाइल फोटो

  • महेंद्र सिंह धोनी ने 15 अगस्त को इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास का ऐलान किया
  • धोनी ने अपनी कप्तानी में वनडे और टी-20 वर्ल्ड कप के साथ चैम्पियंस ट्रॉफी भी जिताई

भारतीय टीम को टेस्ट में नंबर-1 बनाने वाले पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने इंटरनेशनल क्रिकेट से रिटायरमेंट ले लिया। यह घोषणा उन्होंने स्वतंत्रता दिवस के मौके पर की। धोनी ने अपनी कप्तानी में भारत को आईसीसी की तीनों ट्रॉफी 2007 टी-20 और 2011 वनडे वर्ल्ड कप के अलावा चैम्पियंस ट्रॉफी भी जिताई है। ऐसा करने वाले वे दुनिया के इकलौते कप्तान हैं।

धोनी ने 15 साल के क्रिकेट करियर में जो रिकार्ड्स कायम किए हैं। उनकी बराबरी करना किसी के लिए भी आसान नहीं होगा। वे अकेले इंडियन कैप्टन हैं, जिन्होंने टीम को पहली बार टेस्ट में नंबर-1 बनाया था। आज हम धोनी के ऐसे ही 20 बड़े रिकार्ड्स के बारे में बात कर रहे हैं।

धोनी ने बतौर विकेटकीपर सबसे बड़ा व्यक्तिगत वनडे स्कोर (183 रन) बनाया है।

धोनी ने 2005 में श्रीलंका के खिलाफ वनडे में 145 बॉल पर 183 रन की पारी खेली थी। यह किसी भी विकेटकीपर की सबसे बड़ी इंडिविजुअल पारी है। इस पारी में धोनी ने 15 चौके और 10 छक्के लगाए थे। उनके बाद पूर्व ऑस्ट्रेलियाई विकेटकीपर एडम गिलक्रिस्ट हैं, जिन्होंने 172 रन की पारी खेली थी।

6 नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए वनडे में सबसे ज्यादा रन बनाए
धोनी ने अपने करियर के ज्यादातर मैचों में 6 और 7 नंबर पर बल्लेबाजी की है। इसी दौरान उन्होंने नाबाद रहते हुए टीम को ज्यादातर मैचों में जीत दिलाई है। इसी कारण उन्हें बेस्ट फिनिशर भी कहा जाता है। धोनी ने वनडे में 6 नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए सबसे ज्यादा 4031 रन बनाए हैं।

धोनी बतौर विकेटकीपर खेलते हुए 7 टेस्ट और 2 वनडे में बॉलिंग करने वाले पहले खिलाड़ी।

यह धोनी का एक अलग और अनोखा रिकॉर्ड है। वे टीम में बतौर विकेटकीपर बल्लेबाज खेलते थे, लेकिन कई मौकों पर उन्होंने बॉलिंग भी की थी। धोनी ने टेस्ट में 7 और वनडे में 2 बार बॉलिंग की है। उन्हें वनडे में एक विकेट भी मिला। धोनी ने 2009 चैम्पियंस ट्रॉफी के एक मैच में वेस्टइंडीज के बल्लेबाज ट्रैविस डॉलिन को बोल्ड किया था।

वनडे में सबसे जल्दी नंबर-1 बनने वाले खिलाड़ी
धोनी आईसीसी वनडे रैंकिंग में सबसे कम 42 पारियों के बाद ही 2008 में नंबर-1 बल्लेबाज बन गए थे। उनका यह रिकॉर्ड 15 साल बाद भी कायम है। धोनी ने यह उपलब्धि पाकिस्तान के खिलाफ 148 और श्रीलंका के खिलाफ 183 रन की पारी खेलने के बाद हासिल की थी।

बतौर कप्तान वनडे में सबसे ज्यादा सिक्स लगाए
माही अपने हेलीकॉप्टर शॉट के लिए दुनियाभर में जाने जाते हैं। कहा जाता है कि यदि उनका बल्ला हेलीकॉप्टर शॉट के लिए घूमता है, तो फिर बॉल बाउंड्री के बाहर ही जाती है। ऐसा ही एक बड़ा रिकॉर्ड अब तक उनके नाम है। धोनी ने बतौर कप्तान सबसे ज्यादा 211 सिक्स लगाए हैं। उनके बाद ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कैप्टन रिकी पोंटिंग का नाम है, जिन्होंने 171 बार बॉल को बाउंड्री के पार पहुंचाया है।

धोनी ने सिक्स के साथ सबसे ज्यादा 9 वनडे मैच फिनिश किए।

बेस्ट फिनिशर धोनी ने सिक्स के साथ सबसे ज्यादा 9 वनडे मैचों को फिनिश किया है। ऐसा करने वाले वे अकेले खिलाड़ी हैं। यदि ओवरऑल सिक्स की बात करें, तो धोनी ने तीनों फॉर्मेट (वनडे, टी-20 और टेस्ट) के 538 मैच में 359 सिक्स लगाए हैं। वर्ल्ड की इस लिस्ट में वे 5वें नंबर पर हैं।

सिक्स लगाकर वर्ल्ड कप जिताने वाले अकेले खिलाड़ी
धोनी ने 2011 वनडे वर्ल्ड कप फाइनल में श्रीलंका के खिलाफ नाबाद 91 रन की मैच जिताऊ पारी खेली थी। धोनी ने सिक्स लगाकर भारत को अपना दूसरा वनडे वर्ल्ड कप जिताया था। वे ऐसा करने वाले दुनिया के अकेले खिलाड़ी हैं। यह फाइनल 2 अप्रैल को मुंबई में खेला गया था।

ऑस्ट्रेलिया को उसी के घर में पहली बार किसी सीरीज में क्लीन स्वीप किया
भारतीय टीम ने धोनी की कप्तानी में 2016 में ऑस्ट्रेलिया को उसी के घर में three टी-20 की सीरीज में क्लीन स्वीप किया था। 140 साल के इतिहास में धोनी ऐसा करने वाले पहले कप्तान हैं। तब विराट कोहली ने तीनों मैच में फिफ्टी लगाई थी। उन्हें मैन ऑफ द सीरीज भी चुना गया था।

धोनी का बैट सबसे महंगा बिका था।

भारतीय टीम ने माही की कप्तानी में ही दूसरी बार वनडे वर्ल्ड कप 2011 में जीता था। इस मैच में धोनी ने मुश्किल समय में श्रीलंका के खिलाफ फाइनल में नाबाद 91 रन की पारी खेली थी। धोनी का यही बैट कुछ साल पहले सबसे महंगा बिका था। नीलामी में बैट के लिए 1 लाख पाउंड (करीब 1 करोड़ रुपए) बोली लगी थी।

सबसे ज्यादा बार नाबाद पारी खेलीं
महेंद्र सिंह धोनी ने वनडे करियर में सबसे ज्यादा 84 बार नाबाद पारियां भी खेली हैं। ऐसा करने वाले वे पहले खिलाड़ी हैं।

इंटरनेशनल क्रिकेट में सबसे ज्यादा स्टंप आउट किए।

जब स्टंपिंग करने की बात आती है, तो इसमें कोई शक नहीं कि धोनी से तेज विकेटकीपर शायद ही कोई दूसरा होगा। उन्होंने टेस्ट में सबसे ज्यादा 38, वनडे में 120 और टी-20 में 33 स्टंपिंग की है। यह रिकॉर्ड जल्द टूटना मुश्किल है।

भारत के सबसे सफल विकेटकीपर
धोनी के डेब्यू से पहले भारतीय टीम में कई शानदार विकेटकीपर रहे हैं, लेकिन माही जैसा कोई नहीं रहा। धोनी तीनों फॉर्मेट (टेस्ट, वनडे और टी-20) में भारत के सबसे सफल विकेटकीपर हैं। उन्होंने बतौर विकेटकीपर टेस्ट में 294 शिकार किए हैं। वनडे में 434 और टी-20 में 87 खिलाड़ियों को पवेलियन भेजा है। टी-20 में उनका यह वर्ल्ड रिकॉर्ड भी है, जिसके आसपास भी कोई नहीं है।

50 से ज्यादा की औसत से 10 हजार रन बनाने वाले पहले खिलाड़ी
माही 50 से ज्यादा की औसत 10 हजार रन बनाने वाले पहले बल्लेबाज हैं। उन्होंने 350 वनडे में 50.57 की औसत से 10,773 रन बनाए हैं। यह उपलब्धि सचिन तेंदुलकर, रिकी पोंटिंग जैसे बल्लेबाज भी हासिल नहीं कर सके।

सबसे ज्यादा टी-20 इंटरनेशनल मैच जीते
धोनी पहले कैप्टन हैं, जिन्होंने 2007 में टी-20 वर्ल्ड कप जीता था। इसके बाद उन्होंने अपनी कप्तानी में टीम को 72 में से सबसे ज्यादा 41 टी-20 इंटरनेशनल मैच जिताए। इस रिकॉर्ड के आसपास भी कोई नहीं है। दूसरे नंबर पर आयरलैंड के कैप्टन विलियम पोर्टरफील्ड हैं, जिन्होंने 56 में से 26 मैच जीते हैं।

धोनी ने आईपीएल में सबसे ज्यादा फाइनल खेले।

धोनी सबसे ज्यादा 9 बार आईपीएल फाइनल खेलने वाले इकलौते खिलाड़ी हैं। उन्होंने अपनी कप्तानी में सबसे ज्यादा 174 आईपीएल मैच खेले हैं। इसके अलावा आईपीएल में बतौर कैप्टन सबसे ज्यादा 104 मैच जीते भी हैं। तीनों रिकॉर्ड अब भी कायम हैं। धोनी ने अपनी कप्तानी में तीन बार चेन्नई सुपर किंग्स को खिताब जिताया है। हालांकि, इस मामले में रोहित शर्मा उनसे आगे हैं। उन्होंने मुंबई इंडियंस को four बार विजेता बनाया।

भारतीय टीम को टेस्ट में नंबर-1 बनाने वाले पहले कप्तान
धोनी ने अपनी कप्तानी में भारतीय टीम को 2009 में टेस्ट रैंकिंग में नंबर-1 बनाया था। ऐसा करने वाले वे पहले भारतीय कप्तान हैं। धोनी ने 90 टेस्ट में 4876 रन बनाए हैं। उन्होंने 30 दिसंबर 2014 को टेस्ट से रिटायरमेंट ले लिया था।

धोनी ने सबसे ज्यादा 332 मैचों में कप्तानी की
माही ने भारतीय टीम के लिए 332 (वनडे, टेस्ट और टी-20) मैचों में कप्तानी की है। ऐसा करने वाले वे दुनिया के पहले खिलाड़ी हैं। उनके बाद पूर्व क्रिकेटर रिकी पोंटिंग का नाम आता है, जिन्होंने 324 में ऑस्ट्रेलिया टीम की कप्तानी की।

2007 टी-20 वर्ल्ड कप समेत आईसीसी की तीनों ट्रॉफी जीतने वाले अकेले कैप्टन।

धोनी ने अपनी कप्तानी में भारत को आईसीसी की तीनों ट्रॉफी 2007 टी-20 और 2011 वनडे वर्ल्ड कप के अलावा चैम्पियंस ट्रॉफी भी जिताई है। ऐसा करने वाले वे दुनिया के अकेले कैप्टन हैं।

तीनों फॉर्मेट में भारत के सबसे सफल कप्तान
धोनी ने भारतीय टीम को अपनी कप्तानी में 332 में से 178 (वनडे, टेस्ट और टी-20) मैच जिताए हैं। यह उपलब्धि हासिल करने वाले पहले भारतीय कप्तान हैं। धोनी ने 200 वनडे में से 110 और 60 टेस्ट में से 27 में जीते हैं। उनके नाम 72 टी-20 में 41 जीत दर्ज है।

ये भी पढ़ें

धोनी का इंटरनेशनल क्रिकेट से रिटायरमेंट:39 साल के धोनी बोले- प्यार और सपोर्ट के लिए शुक्रिया, अब मुझे रिटायर समझें; कोहली ने कहा- हर चीज के लिए शुक्रिया कप्तान!

0

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here