Female sub engineer Sonal Jain created ruckus during Independence Day program in Raigarh Raigarh police arrested Sonal Jain. | स्वतंत्रता दिवस कार्यक्रम में महिला सब इंजीनियर ने मचाया हंगामा, कांग्रेस नेताओं पर लगा चुकी हैं प्रताड़ना का आरोप

0
78


  • Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • Female Sub Engineer Sonal Jain Created Ruckus During Independence Day Program In Raigarh Raigarh Police Arrested Sonal Jain.

रायगढ़31 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

तस्वीर रायगढ़ की है। जब अधिकारी और पुलिस के लोग सोनल को समझा नहीं सके तो उसे गिरफ्तार कर लिया गया।

  • नंवबर 2019 से महिला सब इंजीनियर और जिला स्तर के कांग्रेस नेताओं के बीच तनातनी जारी है
  • अब इस महिला कर्मी ने कर दी इस्तीफे की पेशकश, कलेक्टर-एसपी के साथ बहस भी हुई

जिले में हो रहे स्वतंत्रता दिवस कार्यक्रम के दौरान हंगामा हो गया। मिनी स्टेडियम में कलेक्टर, एसपी और इलाके जनप्रतिनिधी मौजूद थे। इस वक्त यहां जनपद पंचायत बरमकेला की सब इंजीनियर सोनल शर्मा पहुंच गईं। मंच की तरफ जाने की जिद करते हुए यह पुलिसकर्मियों से झगड़ने लगीं। कलेक्टर भीम सिंह और जिले के एसपी संतोष सिंह समझाइश देने महिला कर्मचारी के पास पहुंचे। मगर गुस्साई सोनल जैन ने किसी की नहीं सुनी उन्होंने कहा कि मैं इस्तीफा देने आई हूं, किसी से बात मुझे नहीं करनी।

पुलिस ने जब सोनल को कार्यक्रम स्थल से जाने के लिए कहा तब उसने कहा कि क्या मैं टैरेरिस्ट हूं। बहस बढ़ी तो महिला पुलिस ने सोनल को पुलिस वैन में बिठाया और थाने लेकर चलीं गईं। एसडीएम यूके उर्वशा ने बताया कि प्रतिबंधात्मक कार्रवाई करते हुए अब सब इंजीनियर को जेल भेज दिया गया है। कार्यक्रम स्थल से जाते-जाते मीडियाकर्मियों से सोनल कहती रहीं कि ये लोग मुझे मार देंगे, देख लेना। सोनल ने शुक्रवार को ही बगावती तेवर दिखाने शुरू कर दिए थे। उसने फेसबुक पर अपने इस्तीफे की बात लिखी। यह भी लिखा कि महिलाओं का सम्मान नहीं किया जाता। उसका साथ कोई नहीं दे रहा। उसे परेशान किया जा रहा है।

यह है विवाद
नवंबर 2019 में सोनल ने थाने में शिकायत की थी। अपनी लिखित शिकायत में सब इंजीनियर लुकापारा सरपंच पति अरुण शर्मा, बोंदा सरपंच पति सुकलाल राठौर, पीहरा सरपंच पति अनंतराम, साकरा डीडीसी मेंबर केशव पातर, कादुल सरपंच रामेश्वर पटेल, ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष ताराचंद पटेल, गणपति पाढ़ी पर आरोप लगाया । सोनल ने दावा किया कि ये नेता बिलिंग या काम को कागजों पर ज्यादा दिखाने का दबाव बनाते हैं, मना करने पर धमकियां देते हैं।

इसके बाद सोनल चर्चा में आ गईं, खुले तौर पर मीडिया में कांग्रेस नेताओं के खिलाफ कई दावे करने शुरु कर दिए। कुछ दिन बाद सोनल ने यह भी शिकायत की थी कि उन्हें एट्रोसिटी एक्ट में फंसाने की धमकी दी जा रही है। हालांकि कुछ दिन बाद सोनल के खिलाफ इसी एक्ट के तहत एक मुकदमा दर्ज भी किया गया। पिछले कई महीनों से सोनल इन विवादों के बाद शांत थीं, मगर शनिवार की सुबह हुआ हंगामा जिले में चर्चा का विषय बना हुआ है।

0



Source hyperlink

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here