UN की चेतावनी- कोरोना के बारे में फैलाई जा रहीं फेक न्यूज़ ले सकती है जान I world faces misinformation epidemic about virus UN chief | relaxation-of-world – News in Hindi

0
54

UN की  चेतावनी- कोरोना के बारे में फैलाई जा रहीं फेक न्यूज़ ले सकती है जान

न्यूज़ 18 क्रिएटिव

संयुक्त राष्ट्र (United Nations) प्रमुख एंतोनियो गुतारेस ने दुनिया के सभी देशों के लिए चेतावनी जारी कर कहा है कि कोरोना से जुड़ी फेक न्यूज़ पर लगाम लगानी होगी नहीं तो ये कई जानें ले सकती है.

संयुक्त राष्ट्र. कोरोना वायरस (Coronavirus) खुद जितना घातक है उससे भी कहीं ज्यादा घातक उसके बारे में सोशल मीडिया (Social Media) के जरिए फैलाई जा रहीं भ्रामक जानकारियां हैं. ईरान (Iran) में ऐसी ही एक फेक मैसेज के चक्कर में 1000 से ज्यादा लोगों ने इंडस्ट्रियल अल्कोहल पी लिया और 600 की मौत हो गयी. संयुक्त राष्ट्र (United Nations) प्रमुख एंतोनियो गुतारेस ने दुनिया के सभी देशों के लिए चेतावनी जारी कर कहा है कि कोरोना से जुड़ी फेक न्यूज़ (Fake News) पर लगाम लगानी होगी नहीं तो ये कई जानें ले सकती है.

गुतारेस ने कहा दुनिया इस समय जब घातक कोविड-19 महामारी से लड़ रही है, हम व्हाट्सएप जैसे विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर कोविड-19 के बारे में गलत जानकारियां फैलायी जाने से एक और खतरनाक महामारी का सामना कर रहे हैं. उन्होंने ढेर सारे लोगों की जिंदगी को खतरे में डालने वाली इन गलत सूचनाओं के ‘जहर’ का मुकाबला करने के लिए तथ्यों और विज्ञान पर आधारित चीजों को इंटरनेट पर डालने की संयुक्त राष्ट्र की नयी पहल की घोषणा की है.

गलत जानकारियों को बताया ‘जहर’
मंगलवार को एक संदेश में संयुक्त राष्ट्र महासचिव ने कोरोना वायरस के बारे में दुनियाभर में दी जा रहीं झूठी जानकारियां और गलत स्वास्थ्य सलाह पर गंभीर चिंता व्यक्त की. गुतारेस ने कहा, ‘दुनिया घातक कोविड-19 महामारी से लड़ रही है, जो द्वितीय विश्व युद्ध के बाद से सबसे अधिक चुनौतीपूर्ण संकट है. वहीं हम गलत सूचना फैलाए जाने की एक और खतरनाक महामारी का सामना कर रहे हैं.’गुतारेस ने कहा, ‘झूठी बातें फैल रही हैं. कोरोना वायरस की महामारी को साजिश करार देने वाली उल्टी सीधी चीजें इंटरनेट को संक्रमित कर रही हैं. घृणा फैलाने वाली सामग्री वायरल हो रही है, लोगों और समूहों पर कलंक मढ़ा जा रहा है और उन्हें दोषी ठहराया जा रहा है. दुनिया को इस बीमारी के खिलाफ एकजुट होना चाहिए.’ उन्होंने सभी राष्ट्रों से झूठ और बेहूदी चीजों को अस्वीकार करने की अपील की. गलत सूचनाओं के बढ़ते संकट का मुकाबला करने के लिए तथ्यों और विज्ञान पर आधारित सामग्रियों को इंटरनेट पर डालने के लिए संयुक्त राष्ट्र की एक नयी पहल की घोषणा की.

 

ये भी पढ़ें:

कोरोना रहा तो क्या होंगे हमारे फ्यूचर के कपड़े और तौर-तरीके

चीन में ‘डॉग मीट’ पर बैन, लेकिन अब भी ये 10 देश शौक से खा रहे हैं कुत्ते का मांस

कोरोना की ‘गेम चेंजर’ दवा पर छाई नाउम्मीदी, मरीजों पर गंभीर साइड इफेक्ट

देश को रेड, ऑरेंज, ग्रीन जोन में बांटने से क्‍या होगा फायदा, किस जोन में कितनी मिलेगी छूट

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अन्य देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.


First printed: April 15, 2020, 1:15 PM IST



[ad_2]

Leave a Reply