Covid 19: कोरोना को फैलने से रोकने के लिए लॉकडाउन का पालन करना जरूरी- शोधकर्ता | to stop coronavirus spreading lockdown accept is necessary said research bgys | rest-of-world – News in Hindi

0
147

Covid 19: कोरोना को फैलने से रोकने के लिए लॉकडाउन का पालन करना जरूरी- शोधकर्ता

कोरोना वायरस को रोकने के लिए लॉकडाउन स्वीकार करना जरूरी

शोधकर्ताओं का मानना है कि कोरोना (Covid 19) को रोकने के लिए लॉकडाउन को सामाजिक रूप से पूरी तरह स्वीकार्य बनाना होगा.

कोरोना वायरस (Coranavirus) को फैलने से रोकने के लिए कई देशों ने लॉकडाउन (Lock down) की घोषणा कर दी है. लेकिन आज भी कई लोग इसकी गंभीरता को नहीं समझ रहे हैं. आज भी लोग बिना कारण के अपने घरों से बाहर निकल जाते हैं. शोधकर्ताओं का मानना है कि इसको रोकने के लिए लॉकडाउन को सामाजिक रूप से पूरी तरह स्वीकार्य बनाना होगा.

उन्होंने कहा कि अब लोगों को लॉकडाउन को अपने जीवन शैली में जोड़ लेना चाहिए. तभी यह सफल हो पाएगा और हम इस महामारी से लड़ पाएंगे. किंग्स कॉलेज ऑफ लंदन के शोधकर्ता डॉ. रेबेका वेबस्टर ने बताया कि किसी भी नियम का पालन तभी हो पाता है जब समाज उसे खुद ही स्वीकार कर ले. उन्होंने आगे कहा कि सामाजिक दबाव किसी भी नियम का पालन करवाने के लिए सबसे अधिक कारगर साबित होता है.

इसका मतलब यह है कि जब समाज के लोग इस बात को खुद ही स्वीकार कर लेंगे कि लॉकडाउन बहुत जरूरी है तो वे अपने आस-पास के लोगों को भी इसके लिए जागरूक कर सकेंगे. लॉकडाउन को सफल बनाने के लिए जरूरी है कि लोगों के पास पर्याप्त भोजन, चिकित्सा आपूर्ति और बिलों का भुगतान करने के लिए धन और सभी अधिक महत्वपूर्ण संसाधन उपलब्ध हों. लोगों को चाहिए की वे सरकार द्वारा बनाए गए नियमों का स्वेक्षा से पालन करें तभी हम इस महामारी से लड़ पाएंगे.

दूसरी महामारी पर भी किया गया शोध :पब्लिक हेल्थ जर्नल में प्रकाशित इस अध्ययन से यह पता लगाने की कोशिश गई की कि इबोला, सार्स, स्वाइन फ्लू और कण्ठमाला जैसी बीमारियों के प्रकोप के दौरान लोगों के विभिन्न समूहों ने कैसे लॉकडाउन का पालन किया था. शोधकर्ताओं ने पाया कि सही और स्पष्ट जानकारी के द्वारा ही लोग इतने सतर्क और सजग हो पाए थे.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अन्य देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.


First revealed: April 2, 2020, 10:17 AM IST



[ad_2]

Leave a Reply