अब रूस में भी कोरोना का कहर, 93000 केस सामने आने के बाद पुतिन ने प्रतिबंध 11 मई तक बढ़ाए I Putin Extends Russias Non-working Period Due to Coronavirus until May 11 | rest-of-world – News in Hindi

0
60

रूस में भी कोरोना का कहर, 93000 केस सामने आने के बाद पुतिन ने 11 मई तक बढ़ाए प्रतिबंध

व्लादिमीर पुतिन ने कोरोना के मद्देनज़र 11 मई तक बढ़ाए प्रतिबंध

रूस में अभी तक कोरोना संक्रमण (Covid-19) के 93,000 से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं जबकि 867 लोगों की इससे मौत हो चुकी है. रूस में मंगलवार को भी संक्रमण के 6400 से ज्यादा नए केस सामने आए हैं.

मॉस्को. अमेरिका (US) के बाद अब कोरोना संक्रमण (Coronavirus) ने रूस (Russia) में कहर बरपाना शुरू कर दिया है. रूस में अभी तक कोरोना संक्रमण (Covid-19) के 93,000 से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं जबकि 867 लोगों की इससे मौत हो चुकी है. रूस में मंगलवार को भी संक्रमण के 6400 से ज्यादा नए केस सामने आए हैं. स्तिथि की गंभीरता को देखते हुए रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (Vladimir Putin) ने देश में काम पर लगे गए प्रतिबंध (Non-working Period) को अब 11 मई तक के लिए बढ़ा दिया है.

पुतिन ने सरकार के बड़े अधिकारियों और क्षेत्रीय प्रमुखों के साथ एक टेलीवाइज्ड मीटिंग में मंगलवार को देश में कोरोना संक्रमण के हालातों का जायजा लिया. इस मीटिंग में फैसला लिया गया कि 5 मई के बाद से लॉकडाउन में कुछ छूट देना शुरू की जा सकती हैं लेकिन लोगों की सुरक्षा के मद्देनज़र नॉन वर्किंग पीरियड को 11 मई तक बढ़ा दिया जाए. इससे पहले पुतिन ने कहा था कि लॉकडाउन को अप्रैल के आखिरी हफ्ते में हटा लिया जाएगा, हालांकि तेजी से बढ़ते संक्रमण के मामलों के बीच अब ये संभव नज़र नहीं आ रहा है. पुतिन ने कहा कि अर्थव्यवस्था को सपोर्ट करने के लिए जल्द ही आर्थिक पैकेज का भी ऐलान किया जाएगा.
रूस में कड़े प्रतिबंध लागू, पुतिन ने टाला संवैधानिक सुधार
बता दें कि रूस में कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए अप्रैल के पहले हफ्ते से ही देश में लॉकडाउन घोषित किया हुआ है. इसके तहत अधिकांश क्षेत्रों के निवासियों को घर में ही रहने का आदेश दिया गया है. लोगों को सिर्फ किराने का सामान, दवाइयां खरीदने या कचरा बाहर फंकने के लिए ही घर से बाहर निकलने की अनुमति है. देश में कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने संवैधानिक सुधार पर एक राष्ट्रव्यापी चुनाव को स्थगित कर दिया है. इससे उन्हें 2036 तक सत्ता में बने रहने की अनुमति मिल गई है. इससे पहले उन्होंने पहली बार द्वितीय विश्व युद्ध की जीत की 75 वीं वर्षगांठ पर रेड स्क्वायर पर होने वाले पारंपरिक सैन्य परेड को भी स्थगित कर दिया था. 

ये भी पढ़ें:

जानें जापान में कोरोना वायरस संकट के बीच क्यों बढ़ रहे हैं तलाक के मामले

मुसोलिनी की आज ही के दिन हुई थी हत्या, गुस्‍साए लोगों ने लाश की कर दी थी दुर्दशा

संक्रमण से उबरे हर मरीज के प्‍लाज्‍मा का कोरोना के इलाज में नहीं हो सकता इस्‍तेमाल, जानें क्‍या हैं रक्‍तदान की शर्तें

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अन्य देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.


First revealed: April 29, 2020, 7:59 AM IST



[ad_2]

Leave a Reply