संयुक्त राष्ट्र ने कोरोना वायरस महामारी से निपटने के लिए प्रयास तेज करने की अपील की – UN appeals to intensify efforts to deal with coronavirus epidemic | relaxation-of-world – News in Hindi

0
38

संयुक्त राष्ट्र ने कोरोना वायरस महामारी से निपटने के लिए प्रयास तेज करने की अपील की

UN की वैश्विक स्तर पर कदम उठाने की तैयारी

मैक्सिको ने यह प्रस्ताव तैयार किया है कि संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुतारेस (Antonio Guterres) से विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के साथ मिलकर काम करने का अनुरोध किया गया है.

संयुक्त राष्ट्र. संयुक्त राष्ट्र (United Nations) महासभा ने एक प्रस्ताव पारित कर कोरोना वायरस (Coronavirus) वैश्विक महामारी से निपटने के लिए दवाओं, टीकों और चिकित्सकीय उपकरणों को बनाने, उनका निर्माण करने और उनका आंकलन करने की गति को तेजी से बढ़ाने के लिए वैश्विक स्तर पर कदम उठाए जाने की अपील की है.

मैक्सिको ने यह प्रस्ताव तैयार किया है जिसमें संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुतारेस (Antonio Guterres) से विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के साथ मिलकर काम करने का अनुरोध किया गया है और सभी जरूरतमंदों, खासकर सभी विकासशील देशों के लोगों के लिए जांचों, चिकित्सकीय आपूर्ति, दवाओं एवं कोरोना वायरस से बचने के लिए भविष्य में बनने वाले टीकों तक समय पर एवं समान उपलब्धता सुनिश्चित करने के विकल्पों की सिफारिश की गई है.

इस प्रस्ताव में कोविड-19 को फैलने से रोकने के वैश्विक प्रयासों को समन्वित करने और संयुक्त राष्ट्र के 193 सदस्य देशों की मदद करने में संयुक्त राष्ट्र प्रणाली की मूलभूत भूमिका की पुन: पुष्टि की गई है और इस संबंध में विश्व स्वास्थ्य संगठन की अहम भूमिका को स्वीकार किया गया है.

उल्लेखनीय है कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने चीन में सबसे पहले सामने आए संक्रमण को रोकने में नाकाम रहने का आरोप लगाते हुए डब्ल्यूएचओ को दी जानी वाली निधि इस माह की शुरुआत में रोक दी थी और कहा था कि उसे जिम्मेदार ठहराया जाना चाहिए लेकिन अमेरिका ने इस प्रस्ताव को बाधित नहीं किया.ये भी पढ़ें: Corona Free होने की स्टेज पर आए भीलवाड़ा में फिर सामने आए four नए पॉजिटिव केस

वैश्विक महामारी के दौरान महासभा बैठक नहीं कर सकती, ऐसे में बनाए गए वोटिंग के नए नियमों के अनुसार मसौदा प्रस्ताव सदस्य देशों को भेजा जाता है. यदि कोई भी देश समससीमा समाप्त होने से पहले इस पर आपत्ति जताता है तो प्रस्ताव खारिज हो जाता है. महासभा के अध्यक्ष तिजानी मुहम्मद बंदे ने 193 संयुक्त राष्ट्र देशों को सोमवार रात पत्र भेजकर कहा कि प्रस्ताव को लेकर कोई आपत्ति नहीं है.

इस प्रस्ताव में सदस्य देशों से अनुचित भंडारण नहीं करने की अपील की गई है क्योंकि इससे सुरक्षित, प्रभावी एवं किफायती आवश्यक दवाओं, टीकों, व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरणों एवं चिकित्सकीय उपकरणों तक पहुंच बाधित हो सकती है.

170 देशों ने इस प्रस्ताव को प्रायोजित किया है. इसमें सदस्य देशों से इस बीमारी से निपटने के लिए मिलकर काम करने की अपील की गई है.

ये भी पढ़ें: लॉकडाउन में PM-Kisan के तहत मोदी सरकार ने किसानों को बांटे 17793 करोड़ रुपये

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अन्य देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.


First revealed: April 21, 2020, 1:25 PM IST



[ad_2]

Leave a Reply