विवादों में घिरा वह ओल्ड ऐज होम जिसके लिए अमिताभ बच्चन जुटाते हैं दान I South African care facility supported by Amitabh Bachchan in COVID-19 controversy | rest-of-world – News in Hindi

0
136

विवादों में घिरा वह ओल्ड ऐज होम जिसके लिए अमिताभ बच्चन जुटाते हैं दान

अमिताभ बच्चन समर्थित एक ओल्ड ऐज होम विवादों में आया.

अमिताभ बच्चन (Amitabh bachchan) दक्षिण अफ्रीका में भारतीय मूल के बुजुर्गों की मदद के लिए चल रहे एक ओल्ड ऐज होम के लिए दुनिया भर से चंदा जुटाने में भी मदद करते हैं.

जोहानिसबर्ग. बॉलीवुड मेगास्टार अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) का नाम साउथ अफ्रीका (South Africa) के एक ओल्ड ऐज होम के चलते विवादों में आ गया है. दरअसल बिग बी दक्षिण अफ्रीका में भारतीय मूल के बुजुर्गों की मदद के लिए चल रहे एक ओल्ड ऐज होम के लिए दुनिया भर से चंदा जुटाने में भी मदद करते हैं. अब ये ओल्ड ऐज होम लॉकडाउन के नियमों की अनदेखी करने के चलते विवादों में आ गया है.

आर्यन बेनेवोलेंट होम (एबीएच) नाम के इस ओल्ड ऐज होम के मुख्य कार्यकारी अधिकारी नरेन पुत्तुनदीन और यहां कंस्ट्रक्शन का काम कर रहे ठेकेदार रोशन लक्ष्मण को पुलिस ने बुजुर्गों के चैट्सवर्थ होम में कोविड-19 पृथक वार्ड तैयार करने के लिए आवश्यक अनुमति न होने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया है. एबीएच इस केंद्र में कोरोना वायरस फैलने की आशंका के मद्देनजर तैयारी के तौर पर 24 बिस्तरों का वार्ड बना रहा था, उसी दौरान पुलिस घटनास्थल पर पहुंच गई. पुलिस ने आरोप लगाया है कि इस कंस्ट्रक्शन के लिए अनुमति नहीं ली गई थी और ये देश भर में जारी लॉकडाउन के नियमों का उल्लंघन भी है.

संस्था ने कहा- ली थी परमिशन
लक्ष्मण ने वेबसाइट ‘इंडिपेंडेंट ऑनलाइन’ को बताया कि उनके और पुत्तुनदीन के पास लॉकडाउन के दौरान काम करने के लिए वैध दस्तावेज थे जिन्हें पुलिस ने कानून सम्मत मानने से इनकार कर दिया. उन्होंने बताया कि वे सभी मजदूरों समेत उन्हें पुलिस थाने ले गए. पुलिस थाने में सामाजिक दूरी बनाए रखना संभव नहीं था और सभी को एक बरामदे में रखा गया, जब तक कि पुलिस ने उनके मजदूरों को चेतावनी देकर छोड़ नहीं दिया.लक्ष्मण और पुत्तुनदीन को शाम को रिहा किया गया, जब उनके वकील ने जमानत राशि जमा की. लक्ष्मण के मुताबिक यह घटनाक्रम उनके लिए अपमानजनक था. उन्होंने कहा कि पुलिस ने उनके साथ इस तरह का बर्ताव किया, मानो वे नशीले पदार्थ या शराब बेच रहे थे. बच्चन तब से एबीएच का समर्थन करते रहे हैं जब वह बॉलीवुड कार्यक्रम ‘नाऊ ओर नेवर’ के सिलसिले में 2002 में दक्षिण अफ्रीका की यात्रा के दौरान पहली बार यहां आए थे. पिछले साल अक्टूबर में बच्चन राष्ट्रपति सिरिल रामफोसा के साथ एबीएच के लिए निधि जुटाने के अभियान में शामिल हुए थे. एबीएच उन जरूरतमंद भारतीय मूल के वरिष्ठ नागरिकों की देखभाल के लिए एक सदी पहले शुरू हुआ था जिनकी समुदाय अनदेखी करता है.

 

ये भी पढ़ें:

कोरोना से निपटने में महिला लीडर्स ने किया है सबसे बढ़िया काम

जानें किम जोंग उन के बाद किसके सिर बंध सकता है नॉर्थ कोरिया का ताज?

जानें three से 5 संदिग्‍धों का सैंपल मिलाकर क्‍यों किया जा रहा है कोरोना टेस्‍ट?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अन्य देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.


First printed: April 25, 2020, 11:51 AM IST



[ad_2]

Leave a Reply