मुजीबुर्रहमान की हत्या के दोषी षड्यंत्रकारी को भारत ने बांग्लादेश को सौंपा । India Hands over Key Conspirator Convicted in Assassination of Bangladeshs Founding Father | rest-of-world – News in Hindi

0
136

मुजीबुर्रहमान की हत्या के दोषी षड्यंत्रकारी को भारत ने बांग्लादेश को सौंपा

बांग्लादेश के संस्थापक शेख मुजीबुर्रहमान की तस्वीर के बगल में खड़ी एक महिला (सांकेतिक तस्वीर, Reuters)

बताया गया कि रिसालार मुस्लेमुद्दीन (Risaldar Moseluddin), जिसे पश्चिम बंगाल (West Bengal) में छिपा बताया जा रहा था, उसे सोमवार को बांग्लादेशी अधिकारियों (Authorities) को सौंप दिया गया.

नई दिल्ली. भारत ने बांग्लादेश (Bangladesh) के संस्थापक शेख मुजीबुर्रहमान (Sheikh Mujibur Rahman) की हत्या के मामले में प्रमुख षड्यंत्रकारियों में से एक को पड़ोसी देश बांग्लादेश को सौंप दिया है. बुधवार को यह जानकारी अधिकारियों ने दी.

बताया गया कि रिसालार मुस्लेमुद्दीन (Risaldar Moseluddin), जिसे पश्चिम बंगाल (West Bengal) में छिपा बताया जा रहा था, उसे सोमवार को बांग्लादेशी अधिकारियों (Authorities) को सौंप दिया गया..

पहले भी एक दोषी षड्यंत्रकारी को बांग्लादेश को सौंप चुका है भारत
भारतीय एजेंसियां इससे पहले भी ऐसे ही मुख्य षड्यंत्रकारियों में से एक को ऐसे ही सौंप चुकी है. शेख मुजीबुर्रहमान Sheikh Mujibur Rahman को लोकप्रिय तौर पर ‘बंगबंधु’ के नाम से जाना जाता है. कुछ दिन पहले उनकी हत्या के षड्यंत्रकारियों में से एक को four हजार किमी साझा सीमा से कहीं पर वापस बांग्लादेशी अधिकारियों को सौंप दिया गया था.बांग्लादेश के सुप्रीम कोर्ट ने इन दोनों ही षड्यंत्रकारियों को 2010 में हत्या में दोषी पाया था

इस शख्स की पहचान अब्दुल माजिद के तौर पर की गई थी. शेख मुजीबुर्रहमान (Sheikh Mujibur Rahman), बांग्लादेशी प्रधानमंत्री शेख हसीना के पिता थे.

रिसालदार मुस्लेमुद्दीन (Risaldar Moseluddin) और अब्दुल माजिद, दोनों ही लंबे समय से भारत में छिपे हुए थे. दोनों को ही बांग्लादेशी सुप्रीम कोर्ट ने 2010 में बांग्लादेश के संस्थापक शेख मुजीबुर्रहमान (Sheikh Mujibur Rahman) की हत्या में दोषी पाया था.

यह भी पढ़ें: लड़की को अगवा करके किया कत्‍ल, दबाव में पिता ने बिना पोस्‍टमार्टम ही दफनाया शव

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अन्य देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.


First revealed: April 22, 2020, 11:05 PM IST



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here