बांग्‍लादेश : लॉकडाउन के दौरान मजदूरी दिए जाने की मांग को लेकर सड़कों पर उतरे मजदूर | Bangladesh: Workers took to the streets to demand wages during lockdown | rest-of-world – News in Hindi

0
128

बांग्‍लादेश : लॉकडाउन के दौरान मजदूरी दिए जाने की मांग को लेकर सड़कों पर उतरे मजदूर

कपड़ा कारखानों में काम करने वाले हजारों मजदूरों ने काम और मजदूरी दिए जाने के लिए प्रदर्शन किया. फाइल फोटो/यूट्यूब

बांग्लादेश दुनिया में कपड़ा क्षेत्र में चीन के बाद दूसरे स्थान पर है, लेकिन कोरोना वायरस के कारण इस मद में होने वाले निर्यात में 6 अरब डॉलर के घाटे की आशंका है.

ढाका. बांग्लादेश (Bangladesh) के शहर चटगांव (Chattogram) में कपड़ा कारखानों में काम करने वाले हजारों मजदूरों ने काम और मजदूरी दिए जाने के लिए प्रदर्शन किया. देेेेश में इस समय कोरोना वायरस (Corona virus) के मद्देनजर लॉकडाउन (Lockdown) लगाया हुुआ है.

‘रॉयटर्स’ के मुताबिक बांग्लादेश दुनिया में कपड़ा क्षेत्र में चीन के बाद दूसरे स्थान पर है, लेकिन कोरोना वायरस के कारण इस मद में होने वाले निर्यात में 6 अरब डॉलर के घाटे की आशंका है. रिपोर्ट के मुताबिक बांग्लादेश के भीतर मौजूद खुदरा विक्रेताओं और दुनिया भर से दिए गए ऑडर्स को कंपनियों ने रद्द कर दिया गया है. गौरतलब है कि बांग्लादेश में कोरोना वायरस (Corona virus) के मामलों की संख्या 2,144 है. वहीं इससे अब तक 84 लोगों की मौत हो चुकी है.

दुनियाभर में कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए कदम उठाए जा रहे हैं और लोगों से दूरी बनाए रखने के लिए कहा जा रहा है, लेकिन बांग्लादेश में प्रदर्शनकारियों ने दूरी बनाए रखने के निर्देश को पलट दिया है. चटगांव की सड़कों पर प्रदर्शन कर रहे लोगों का कहना था कि वे अभी तक पिछले महीने के वेतन के इंतजार में हैं. वहीं पुलिस अधिकारी मुहम्मद जमीरुद्दीन ने कहा कि पुलिस ने एक कारखाने के मालिक से इस संबंध में बात की थी और उनसे 28 अप्रैल से पहले भुगतान किए जाने का आश्वासन दिलवाया था.

सरकार ने दिया राहत पैकेज, कारखाना मालिकों ने बताया नाकाफीरिपोर्ट के मुताबिक बांग्लादेश सरकार ने कोरोना वायरस की वजह से होने वाले नुकसान को देखते हुए कंपनियों की मदद के लिए पिछले महीने 28 करोड़, 80 लाख डॉलर के पैकेज की घोषणा की थी ताकि कर्मचारियों को इस महामारी की स्थिति में वेतन का भुगतान किया जा सके. दूसरी ओर कारखाना मालिकों ने कहा कि पैकेज उनके लिए अपर्याप्त था. बांग्लादेश सरकार ने लोगों को सामाजिक समारोह, आयोजन से रोकने और दूरी बनाए रखने के लिए लॉकडाउन को पूरी तरह लागू करने के मकसद से फौज को भी सड़कों पर तैनात कर दिया था.

हालांकि बांग्लादेश में कोरोना वायरस के मामले अन्य देशों की तुलना में अभी भी कम हैं, लेकिन चिकित्सकों ने चेतावनी दी है कि दक्षिण एशिया में कोरोना महामारी फैल रही है. इसलिए इसको लेकर पूरी सावधानी बरती जाए.

ये भी पढ़ें – कोरोना : यूएई में फंसे भारतीय वतन वापसी के इंतजार में तंगी में गुजार रहे जीवन

                आटा और चीनी के बाद खजूरों का स्‍कैंडल, इमरान सरकार पर लगे संगीन आरोप

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अन्य देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.


First printed: April 19, 2020, 7:59 AM IST



LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here