जम्मू-कश्मीर से IS को आतंकी सप्लाई करने वाला अफगानिस्तान में गिरफ्तार, 25 साल पहले भागा था । Kashmiri terrorist got away twenty five years ago caught with ISKP chief in Afghanistan | rest-of-world – News in Hindi

0
39

जम्मू-कश्मीर से IS को आतंकी सप्लाई करने वाला अफगानिस्तान में गिरफ्तार, 25 साल पहले भागा था

ऐजाज अहमद को अफगान सेना ने गिरफ्तार किया है (सांकेतिक तस्वीर)

ऐजाज आहंगर (Aijaz Ahangar) को अफगान सेना (Afghan Army) ने इस्लामिक स्टेट ‘खुरासान प्रदेश’ के प्रमुख असलम फारूकी के साथ इस महीने की शुरुआत में गिरफ्तार (Arrest) किया गया.

नई दिल्ली. डाउनटाउन श्रीनगर के नवा कडाल का रहने वाला ऐजाज अहमद आहंगर (Aijaz Ahmed Ahangar) जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) में पिछले दो दशक से वॉन्टेड (Wanted) था. उसे एक बार आतंकियों से संबंध होने के चलते गिरफ्तार किया गया था और फिर छोड़ दिया गया था. ऐसा नब्बे के दशक के बीच में हुआ था.

अंग्रेजी अखबार हिंदुस्तान टाइम्स के मुताबिक अफगान और भारतीय आतंकवाद-रोधी मिशन (Counter Terror Mission) की देखरेख करने वाले अधिकारियों ने बताया है कि शुरुआत में अधिकारियों को ऐजाज अहमद आहंगर (Aijaz Ahmed Ahangar) के बारे में जानकारी नहीं थी और उन्हें बाद में पता चला कि वह जम्मू-कश्मीर में इस्लामिक स्टेट का प्रमुख रिक्रूटर (essential recruiter of IS) है.

भारत में जेल से छूटने के बाद बांग्लादेश के रास्ते चला गया था पाकिस्तान
ऐजाज आहंगर (Aijaz Ahangar) उर्फ अबू उस्मान अल कश्मीरी सेंट्रल जेल से छोड़े जाने के तुरंत बाद ही बांग्लादेश चला गया था, जहां से वह पाकिस्तान की फ्लाइट पकड़ वहां चला गया था. 25 साल बाद, उसे इस महीने की शुरुआत में अफगानिस्तान के नेशनल डायरेक्टोरेट ऑफ सिक्योरिटी (NDS) ने कंधार में गिरफ्तार किया है. उसे राजधानी काबुल से करीब 500 किमी की दूरी पर गिरफ्तार किया गया. जहां किसी को इससे न कोई फर्क पड़ा. न ही पता चला.सभी के लिए यह गिरफ्तारी आश्चर्य की बात थी

NDS का पूरा फोकस उनके प्रमुख वॉन्टेड आरोपी असलम फारूकी पर था. असलम इस्लामिक स्टेट ‘खुरासान प्रदेश’ का प्रमुख है, जिसने 25 मार्च को काबुल गुरुद्वारे पर हुए आतंकी हमले (Kabul Gurudwara Terrorist Attack) की जिम्मेदारी ली थी, जिसमें 27 श्रद्धालु मारे गए थे.

शुरुआती पूछताछ में आहंगर ने अपनी पहचान इस्लामाबाद (Islamabad) के रहने वाले अली मोहम्मद के तौर पर बताई. और उसे उसकी शक्ल देखकर गिरफ्तार कर लिया गया. अपनी पहचान छिपाने के पूरे प्रयासों के बावजूद कैसे आहंगर की पहचान सामने आ सकी, यह बात पूरी तरह साफ नहीं हैं. लेकिन दिल्ली और काबुल में काउटंर टेरर ऑपरेशन करने वाले अधिकारियों ने अंग्रेजी अखबार हिंदुस्तान टाइम्स को बताया है कि उन्हें बहुत बाद में पता चला कि उन्होंने Four अप्रैल की गिरफ्तारियों में ऐजाज अहमद आहंगर को भी गिरफ्तार किया है. यह 55 साल का आतंकी जम्मू-कश्मीर (Jammmu-Kashmir) में इस्लामिक स्टेट का प्रमुख रिक्रूटर है.

यह भी पढ़ें: सेना प्रमुख ने पाक को दिखाई हैसियत, कहा- हम दवाईयां भेज रहे, तुम आतंकी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अन्य देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.


First printed: April 17, 2020, 4:01 PM IST



[ad_2]

Leave a Reply