कोरोना वायरस से लड़ने में भारतीय मदद के लिए रूस ने जताया आभार | russia expresses gratitude for indian help in fighting with coronavirus | rest-of-world – News in Hindi

0
55

पुतिन ने जताया भारत का आभार, कोरोना के खिलाफ जंग में मदद के लिए कहा शुक्रिया

रूस ने कोरोना वायरस के लड़ने में भारत की मदद पर आभार जताया है.

रूस (Russia) ने कोरोना वायरस (Coronavirus) से लड़ने में भारत के दवा सप्लाई करने के फैसले के लिए आभार व्यक्त किया है.

मास्को: कोरोना वायरस (Coronavirus) से लड़ने में रूस ने भारत की मदद के लिए आभार जताया है. इस बारे में रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के प्रवक्ता की तरफ से बयान आया है. रूस ने कहा है कि वो कोरोना वायरस से लड़ने में भारत के दवाओं की सप्लाई के लिए आभार व्यक्त करता है. रूस की तरफ से कहा गया है कि हम कोरोनो वायरस के खिलाफ लड़ाई में भारतीय सहयोग और इस दिशा में उठाए गए भारत के कदम की सराहना करते हैं. एएनआई के ट्वीट के मुताबिक रूस में भारतीय दूतावास को आभार संदेश प्राप्त हुआ है.

रूस की एक न्यूज एजेंसी के मुताबिक क्रेमलिन ने इसे दोनों देशों के मजबूत पार्टनरशिप का उदाहरण बताया है. शुक्रवार को क्रेमलिन के प्रवक्ता दिमित्री पेस्कोव ने इस बारे में रिपोर्टर्स को बताया. उन्होंने कोरोना से लड़ने में दवाइयों की सप्लाई के लिए भारत का आभार जताया.

उन्होंने कहा कि मास्को इस बात से खुश है कि भारत की सरकार ने हमें कोरोना वायरस से लड़ने में दवाइयों की शिपमेंट भेजकर मदद दी है. हम इसके लिए आभार व्यक्त करते हैं.

उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच 25 मार्च को टेलीफोन पर बातचीत हुई थी. कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में भारत के सहयोग की वजह से दोनों देशों के रिश्तों में गर्मजोशी आई है. उन्होंने कहा कि भारत खुद इस वक्त महामारी के दौर से गुजर रहा है. इस कठिन घड़ी में दवाइयों को भेजने का फैसला दोनों देशों के बीच मजबूत पार्टनरशिप का एक उदाहरण है.इसके पहले भारत में रूस के राजदूत निकोलेई कुवाशेव ने रिपोर्टर्स को बताया था कि भारत रूस के कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों के लिए दवाइयों के खेप भेज रहा है. उन्होंने कहा था कि शिपमेंट में ज्यादातर पैरासिटामोल और हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन जैसी मेडिसीन हैं. रूस के राजदूत ने कहा था कि दवाइयों का शिपमेंट अप्रैल के आखिर या मई की शुरुआत तक रूस पहुंच जाएगा.

ये भी पढ़ें:

कोरोना: एक्सपर्ट की चेतावनी- ब्रिटेन में हो सकती हैं 40 हजार मौतें

कोरोना का संक्रमण फैला तो इस देश की राजकुमारी करने लगीं हॉस्पिटल में ड्यूटी

इस देश के लोग अपने बूते संक्रमण से लड़ रहे जंग, राष्ट्रपति ने कोरोना के अस्तित्व से किया इनकार

कोरोना: लंदन की सड़कों पर लगे लोगों से दयालुता दिखाने की अपील वाले पोस्टर

कोरोना: अफ्रीका में अगले 6 महीने में 1 करोड़ हो सकते हैं संक्रमण के मामले

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अन्य देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.


First printed: April 17, 2020, 8:47 PM IST



[ad_2]

Leave a Reply