एक महीने की ‘कैद’ के बाद इस देश के बच्चे खुली हवा में ले पाएंगे सांस | after a months lockdown the children of this country will be able to breathe in the open air | rest-of-world – News in Hindi

0
53

एक महीने की ‘कैद’ के बाद इस देश के बच्चे खुली हवा में ले पाएंगे सांस

स्पेन के स्कूल 14 मार्च से बंद थे.

स्पेन (Spain) में कोरोना वायरस (Coronavirus) की महामारी फैलने के बाद बंद करवाए गए स्कूल (School) 27 अप्रैल से दोबारा खोले जाएंगे.

मैड्रिड: स्पेन (Spain) के बच्चे 14 मार्च से अपने घरों में कैद हैं. कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण को रोकने के लिए स्पेन में सख्ती से लॉकडाउन (lockdown) लगाया गया था. अब स्पेन के प्रधानमंत्री ने ऐलान किया है 27 अप्रैल से स्पेन के स्कूल (School) खुल जाएंगे ताकि बच्चे खुली हवा में सांस ले सकें. बीबीसी की एक रिपोर्ट के मुताबिक स्पेन के प्रधानमंत्री पेड्रो सांचेज ने स्कूलों के दोबारा खोले जाने की घोषणा की है.

बार्सीलोना की मेयर ने इसी हफ्ते स्कूलों के खोले जाने को लेकर सरकार से अपील की थी.
स्पेन में कोरोना वायरस की महामारी फैलने के बाद अब तक करीब 20 हजार मौतें हो चुकी हैं. यहां वायरस संक्रमण के अब तक 2 लाख मामले सामने आ चुके हैं.

स्पेन में स्टेट ऑफ अलार्म 9 मई तक के लिए बढ़ाने की अपीलशनिवार को एक टेलीविजन इंटरव्यू में स्पेन के प्रधानमंत्री सांचेज ने कहा कि देश ने संक्रमण का सबसे भयावह दौर देखा है. इस महामारी ने हजारों जानें ली हैं. हालांकि उन्होंने कहा है कि वो स्पेन की संसद से कहेंगे कि स्टेट ऑफ अलार्म को 9 मई तक के लिए बढ़ा दिया जाए क्योंकि खतरा अभी टला नहीं है. उन्होंने कहा कि अभी भी हम संवेदनशील लम्हों से गुजर रहे हैं और जल्दबाजी में लिए किसी भी तरह के फैसले से संकट की स्थिति पैदा नहीं होनी चाहिए.

स्पेन में कोरोना वायरस के संक्रमण के मामलों में कमी आई है. एक वक्त इस महीने में एक दिन में एक हजार मौतें हो रही थीं. लेकिन अब मौत के मामले कम हुए हैं. संक्रमण के नए मामलों में भी स्थिरता आई है. हालांकि स्पेन की हेल्थ मिनिस्ट्री की तरफ से कहा गया है कि वीकेंड के मामले गलत भी साबित हो सकते हैं क्योंकि कई स्थानीय प्रशासन ने संक्रमण के मामलों को दर्ज करने में देरी की है. आगे आने वाले आंकड़ों से ही ये तय होगा कि प्रतिबंधों में कब और कितनी छूट दी जा सकती है.

स्पेन में स्कूलों को खोलने को लेकर था राजनीतिक दवाब
स्पेन के प्रधानमंत्री सांचेज को राजनीतिक दवाब मिल रहे थे कि कम से कम बच्चों को बाहर निकलने की छूट दी जाए. विपक्ष के नेता पाब्लो कसाडो ने पिछले दिनों ट्वीट किया था कि ये छोटे हीरो दीवार को फांद रहे हैं. ये एक महीने से अपने ही घरों में कैद हैं.

हालांकि एक सर्वे में स्पेन के करीब 59 फीसदी लोगों ने कहा है कि लॉकडाउन को फिलहाल जारी रखा जाना चाहिए.

रविवार को स्पेन में कोरोना के चलते 410 लोगों की जान गई. शनिवार की तुलना में ये मौत के थोड़े कम मामले हैं. महामारी के चरम के वक्त से ये काफी कम मामले हैं. पिछले सोमवार से सरकार ने कुछ गैर जरूरी वर्कर्स और कंस्ट्रक्शन और मैन्यूफैक्चरिंग में लगे मजदूरों को काम पर वापस लौटने की इजाजत दी थी. हालांकि स्पेन में वयस्कों के लिए लॉकडाउन जारी रहेगा. उन्हें सिर्फ खाने का सामान और दवाएं लेने के लिए बाहर आने की अनुमति मिली है.

ये भी पढ़ें:

वर्ल्ड बैंक के अर्थशास्त्री ने की भारत की तारीफ, कहा- खाने की कमी पर देना होगा सबसे ज्यादा ध्यान
कोरोना: यूके में लॉकडाउन में छूट देने की खबरों के बीच मौत का आंकड़ा 16 हजार के पार
कोरोना: 70 साल के ऊपर वालों को 1 साल तक रहना होगा लॉकडाउन
कोरोना: अमेरिका में 40 हजार के करीब पहुंचा मौत का आंकड़ा, 1 दिन में 1,903 मौतें
ब्रिटेन के मुसलमानों ने इस साल रमज़ान में साथ रहने के लिए बनाया है ये प्लान
क्या कोरोना की महामारी ने पुतिन और ट्रंप को एकदूसरे के करीब ला दिया है

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अन्य देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.


First revealed: April 19, 2020, 11:27 PM IST



[ad_2]

Leave a Reply